इस साल का दूसरा चंद्र ग्रहण 19 को, कहां और किन-किन राशियों पर होगा असर

भीलवाड़ा/ इस साल का दूसरा चंद्र ग्रहण आगामी 19 नवंबर को होगा जो सुबह 11 बजकर 34 मिनट से शुरू होकर 5बजकर 33 मिनट तक रहेगा ।। हालांकि इस ग्रहण का भारत पर आंशिक असर होगा यह ग्रहण भारत में कहां कहां दिखेगा और किन किन राशियों पर इसका प्रभाव होगा आइए जानते हैं ज्योतिष …

इस साल का दूसरा चंद्र ग्रहण 19 को, कहां और किन-किन राशियों पर होगा असर Read More »

November 16, 2021 4:52 pm

भीलवाड़ा/ इस साल का दूसरा चंद्र ग्रहण आगामी 19 नवंबर को होगा जो सुबह 11 बजकर 34 मिनट से शुरू होकर 5बजकर 33 मिनट तक रहेगा ।। हालांकि इस ग्रहण का भारत पर आंशिक असर होगा यह ग्रहण भारत में कहां कहां दिखेगा और किन किन राशियों पर इसका प्रभाव होगा आइए जानते हैं ज्योतिष नगरी कारोई के पंडित ज्योतिष डॉक्टर गोपाल लाल उपाध्याय से।

ज्योतिष डाॅ गोपाल उपाध्याय ने बताया की इस ग्रहण कि भारत पर आशिंक असर रहेगा।वहीं अमेरिका, आस्ट्रेलिया, पूर्वी एशिया और उत्तरी यूरोप में पूर्ण चंद्र ग्रहण दिखाई देगा।इस ग्रहण का कई राशियों पर भी असर देखने को मिलेगा।इसमें वृषभ राशि वालों को सावधान रहने की जरुरत है। इसके अलावा कर्क, कन्या, तुला, वृश्चिक, धनु, मकर और कुंभ राशि वालों के लिए मिला जुला असर देखने को मिल सकता है।

ज्योतिष डां उपाध्याय ने बताया की यह चंद्र ग्रहण कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि पर वृष राशि व कृतिका नक्षत्र में लगेगा। कृतिका नक्षत्र सूर्य देव का नक्षत्र है जबकि वृषभ राशि के स्वामी शुक्र हैं। इस प्रकार यह ग्रहण चंद्रमा, सूर्य और शुक्र ग्रह से संबंधित लोगों पर विशेष रूप से प्रभाव डाल सकता है। इस राशि के जातकों को किसी से वाद-विवाद और फिजूल खर्चों से बचने की सलाह दी जाती है। अगर ग्रहण के दिन  वृष राशि के जातक ईश्वर का ध्यान करेंगे तो मन शांत रहेगा और आने वाली आपत्तियां भी टल जाएंगी।वही चंद्रमा, सूर्य और शुक्र से प्रभावित राशियों को भी ध्यान देना होगा।

ज्योतिष डाॅ गोपाल उपाध्याय केअनुसार यह चंद्र ग्रहण 19 नवंबर शुक्रवार को सुबह 11 बजकर 34 मिनट में लगेगा और शाम को 5 बजकर 33 मिनट तक रहेगा।हालांकि इसका असर पूरे भारत पर नहीं दिखाई देगा। यह अरुणाचल प्रदेश और असम के चरम उत्तर-पूर्वी हिस्सों से चंद्रोदय के ठीक बाद बहुत कम समय के लिए दिखाई देगा। वहीं अमेरिका, आस्ट्रेलिया, पूर्वी एशिया और उत्तरी यूरोप में पूर्ण चंद्र ग्रहण दिखाई देगा।

यह उपछाया चंद्र ग्रहण होगा, इसे खंडग्रास माना जा रहा है ऐसे में पूर्ण चंद्र ग्रहण लगने पर ही सूतक काल मान्य होता है, चूंकि यह उपछाया चंद्र ग्रहण है इसलिए सूतक काल मान्य नहीं होगा। लेकिन धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, गर्भवती महिलाओं और छोटे बच्चों को विशेष सावधानी बरतने की सलाह दी जाती है।

इस चंद्र ग्रहण से प्रकृति में अनेक बदलाव देखने को मिलेंगे रिकॉर्ड तोड़ उत्तरी भारत में बर्फबारी व शीतलहर देखने को मिलेगी आमजन को संक्रमित रोगों से विशेष सावधानी रखनी होगी पश्चिमी देशों में भी अनेक बदलाव दिखेंगे कहीं बर्फबारी तो कहीं शीतलहर का प्रकोप रहेगा

इससे पहले साल का पहला चंद्रग्रहण 26 मई 2021 और सूर्यग्रहण 10 जून 2021 लग चुका है, हालांकि दोनों का भारत में आंशिक असर देखने को मिला था।

Prev Post

शिक्षा विभाग - तबादलों में भष्ट्राचार की खुली पोल, मंच से सीएम गहलोत ने माना, डोटासरा की मंत्री पद से विदाई ?, शिक्षक संघो की होगी जांच

Next Post

Fast and Furious 9 Release Date in India, Full Movie Download Details

Related Post

Latest News

सचिन पायलट के विधायक जोड़ो अभियान को धक्का, जिन विधायकों से संपर्क किया वो सीएम के पास पहुंचे 
पटवारी 20 हजार रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथों अरेस्ट
राजकुमार शर्मा को ब्रेन हेमरेज

Trending News

Chairman Ali Ahmed inspected the ongoing road construction work on Civil Line Road
Volunteers in Tonk took out path on Vijaya Dashami
वसुंधरा राजे के बाद अब सतीश पूनिया ने भी की भी त्रिपुरा सुंदरी मंदिर में पूजा-अर्चना
कांग्रेस के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष होंगे खड़गे,8 अक्टूबर को हो सकती घोषणा

Top News

Chairman Ali Ahmed inspected the ongoing road construction work on Civil Line Road
Volunteers in Tonk took out path on Vijaya Dashami
गहलोत का कार्यकाल समाप्त, कुर्सी खतरे में
सचिन पायलट के विधायक जोड़ो अभियान को धक्का, जिन विधायकों से संपर्क किया वो सीएम के पास पहुंचे 
टोंक शांति एवं सद्भावना समिति की बैठक आयोजित
जयपुर को मिली एबीवीपी के राष्ट्रीय अधिवेशन की मेजबानी, अमित शाह करेंगे उद्घाटन सत्र में शिरकत
विजयादशमी पर  जयपुर में 29 स्थानों पर संघ का पथ संचलन, शस्त्र पूजन व शारीरिक प्रदर्शन भी होंगे
वसुंधरा राजे के बाद अब सतीश पूनिया ने भी की भी त्रिपुरा सुंदरी मंदिर में पूजा-अर्चना
टोंक जिला स्तरीय राजीव गांधी युवा मित्र प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित%%page%% %%sep%% %%sitename%%
Upload state insurance and GPF passbook in new version of SIPF